PM MODI ने चेतावणी दी की दीप जलाते वक्त भूलकर भी न करे ये गलती

PM MODI ने चेतावणी दी की दीप जलाते वक्त भूलकर भी न करे ये गलती

PM MODI ने चेतावणी दी की दीप जलाते वक्त भूलकर भी न करे ये गलती – PM NARENDRA MODI ने शुक्रवार को Corona महामारी के बीच देशवासियों के साथ 12 मिनट का Video संदेश किया। अपने Video संदेश में, PM MODI ने कहा कि लोगों ने कोरोना के खिलाफ 9 दिनों के Lockdown में अब तक अनुशासन का परिचय दिया है।

इसके साथ ही, उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे 5 अप्रैल को रात 9 बजे 9 मिनट के लिए देश को रोशन करें। उन्होंने कहा कि 5 अप्रैल को हमें 130 करोड़ देशवासियों की महाशक्ति को जगाना है। PM MODI ने कहा कि 5 अप्रैल की रात 9 बजे सभी घर की लाइट बंद करके, घर के दरवाजे या बालकनी में खड़े होकर 9 मिनट तक मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या टॉर्च जलाकर। चारों ओर, प्रत्येक व्यक्ति एक दीपक जलाएगा, तब उन्हें प्रकाश की महाशक्ति का एहसास होगा जिसमें हम सभी एक उद्देश्य के लिए लड़ रहे हैं।

साथ ही PM MODI ने यह चेतावनी भी दी है कि इस आयोजन के दौरान कहीं भी किसी को इकट्ठा नहीं होना चाहिए। रास्ते पर, गलियों में या मोहल्लोमे में मत जाओ, अपने घर के दरवाजे, बालकनी से करो। सोशल डिस्टेंसिंग की लक्ष्मण रेखा को कभी पार नहीं करना है। सोशल डिस्टेंसिंग को किसी भी तरह से तोड़ना नहीं है। यही इसका रामबाण इलाज है।

PM MODI ने चेतावणी दी की दीप जलाते वक्त भूलकर भी न करे ये गलती

PM NARENDRA MODI ने कहा कि हमें निरंतर  उजाले की ओर जाना होगा, जो इस Corona से सबसे ज्यादा प्रभावित हैं, हमारे गरीब भाई-बहनों को corona संकट से पैदा हुई निराशा से आशा की ओर ले जाना है। हमें इस कोरोना संकट से उत्पन्न अंधेरे और अनिश्चितता को समाप्त करके उजाले और निश्चितता की ओर बढ़ना होगा। इस उदास कोरोना संकट को हराने के लिए, हमें प्रकाश की चमक को चारों दिशाओं में फैलाना होगा।

बता दें, 24 मार्च को PM MODI ने कहा था कि भारत को बचाने के लिए 21 दिन का यह लॉकडाउन बहुत जरूरी है। यह जनता कर्फ्यू से अधिक कठिन होगा और यह एक तरह से कर्फ्यू है। 21 दिनों के लिए बाहर निकलना क्या होता है यह भूल जाओ। अगर ये 21 दिन नही सम्भलें, तो आपका देश और आपका परिवार 21 साल पीछे चले जाएंगे। corona का मुकाबला करने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग आवश्यक है। हमें संक्रमण के चक्र को तोड़ना होगा। corona से तभी बचा जा सकता है जब घर की लक्ष्मण रेखा पार न की जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *